Republic Day, Why is it special for every Indian? गणतंत्र दिवस, क्यों है खास हर भारतीय के लिए? Republic Day 2022

Republic day of india

Republic Day, Why is it special for every Indian? गणतंत्र दिवस, क्यों है खास हर भारतीय के लिए? Republic Day 2022

Republic Day 2022 : भारत में संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था और इसी दिन को प्रतिवर्ष गणतंत्र दिवस के रूप मे मनाया जाता है। जबकि भारत का संविधान लागू होने से दो माह पूर्व ही 26 नवम्‍बर 1949 को तैयार हो चुका था। भारत की स्वतंत्रता के बाद, स्वतंत्रता को बनाए रखने के लिए, भारत के प्रत्येक नागरिकों की स्वतंत्रता और अधिकारों की रक्षा के लिए साथ ही देश को नियमों व कानून के दायरे मे रहकर विधिवत संचालित करने के लिए एक लिखित प्रारूप का होना आवश्यक था, इसी लिखित प्रारूप तैयार करने के लिए एक समिति बनाई गई और उस समिति के द्वारा प्रारूप तैयार किया गया जो आज हमारे बीच संविधान के रूप मे मौजूद है।

गणतंत्र दिवस भारत के लिए एक ऐतिहासिक दिन होने के साथ ही भारत का राष्ट्रीय उत्सव भी है, इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश अवकाश घोषित किया गया है। इस ऐतिहासिक दिन के उत्सव को हर छोटे से छोटा व बड़े से बड़ा व्यक्ति तथा सरकारी व अर्द्ध सरकारी,प्राइवेट संस्थान, ऑफिस, स्कूलों मे हर्ष उल्लास के साथ मनाया जाता है।

यहाँ पढ़े : डॉ सलीम अली की जीवनी और उनसे जुड़े रोचक तथ्य

यहाँ पढ़े : सर्दियों में बना रहे हैं घूमने का प्‍लान, यहां जाने राजस्‍थान के शानदार पर्यटन स्‍थल

गणतंत्र दिवस का इतिहास  (Republic Day History In Hindi)

लगभग 200 वर्ष तक अंग्रेजों के अत्याचार व जुल्मों से भारत ने 1947 मे निजात पायी, 15 अगस्त 1947 को भारत अंग्रेजो से स्वतंत्र हुआ। इसके पश्चात संविधान निर्माण समिति द्वारा स्वतंत्रता प्राप्ति के संघर्षो के मुख्य उद्देश्यों की पूर्ति के लिए संविधान का निर्माण किया।

Republic Day Facts (गणतंत्र दिवस से जुड़े कुछ तथ्य)

Republic Day Facts : गणतंत्र दिवस से संबंधित कई बाते हम बचपन से सुनते आये हैं। भारत की राजधानी दिल्ली मे इसे भव्य और मुख्य रूप से मनाया जाता है। दिल्ली मे परेड निकली जाती है जो कि, राजपथ से इंडिया गेट तक जाती है। इस दिन परेड मे जल सेना,थल सेना एवं वायु सेना भी भाग लेती है और सलामी देते हुए, अपने कलाबाजियां दिखाती है। इस अवसर पर भारत के प्रधानमंत्री अमर जवान ज्योति पर पुष्पमाला अर्पित करते है तथा शहीद जवानों को श्रध्दान्जली अर्पित करते हैं। गणतंत्र दिवस के इस अवसर पर राष्ट्रपति महोदय अपनी सुरक्षा बल तथा घोड़ो से सजी बग्गी मे बैठ कर इंडिया गेट पर आते, जहा उनका स्वागत प्रधानमंत्री द्वारा किया जाता है। इसके बाद राष्ट्रपति महोदय द्वारा 26 जनवरी को, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है और राष्ट्रगान गाया जाता है तथा कई मनोहर झांकियों की प्रस्तुति होती है।

Republic day Pared
Republic day Pared (Photo Source Webdunia)

First Republic Day (प्रथम गणतंत्र दिवस कब मनाया गया)?

पहली बार गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 1950 को मनाया गया था। इस दिन भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने 21 तोपों की सलामी के साथ ध्वजारोहण किया था और भारत को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया था। तब से प्रतिवर्ष 26 जनवरी को भारत में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।

26 जनवरी को गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

दरअसल गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाये जाने के पीछे एक कारण है। भारत को स्वतंत्रता प्राप्त होने के पूर्व ही वर्ष 1930 मे 26 जनवरी को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत को पूर्ण स्वराज घोषित किया था और इसी दिन पहली बार भारत का स्वतन्त्रता दिवस मनाया गया था। 26 जनवरी को स्वतन्त्रता दिवस के रूप मे आजादी प्राप्त होने तक मनाया जाता रहा। भारतीय इतिहास मे 26 जनवरी का अत्यधिक महत्त्व है और इसी महत्त्व को बरकरार रखने के लिए 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस घोषित किया गया।

Leave a Comment

Open chat
1
How can we help ?
Hello 👋

Can we help you ?