What is Bio bubble? क्या होता है बायो बबल? फिल्म मेकर्स अब IPL की तरह बायो बबल अपना कर करना चाहते हैं, वेब सीरीज और फिल्मो की शूटिंग।

Bio Bubble
Bio Bubble

What is Bio bubble? क्या होता है बायो बबल? फिल्म मेकर्स अब IPL की तरह बायो बबल अपना कर करना चाहते हैं, वेब सीरीज और फिल्मो की शूटिंग।

पिछले वर्ष कोविड-19 के कारण आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात में किया गया था और इस वर्ष 2021 का 14 वां सीजन भारत में ही बायो बबल अपनाकर किया गया था, किंतु बायो बबल टूटने के कारण IPL को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। IPL की तरह ही फिल्म मेकर्स बायो बबल अपनाकर वेब सीरीज और फिल्मों की शूटिंग करना चाहते हैं।

Infotab : कोरोना संक्रमण के कारण देश में लगे लॉकडाउन की वजह से व्यापार व्यवसाय के साथ-साथ फिल्म और टीवी इंडस्ट्री भी प्रभावित हुई है, लॉकडाउन  होने के कारण फिल्मों और शो की शूटिंग नहीं हो पा रही है जिससे फिल्म और टीवी इंडस्ट्री को नुकसान की संभावना बढ़ गई है।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा 15 दिन का कर्फ्यू लागू करने के बाद कुछ फिल्म निर्माताओं ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कुछ छूट देने की माँग की है। फिल्म जगत से जुड़े एशोसिएशन शूटिंग के लिए काम के नए और सुरक्षित विकल्प तलाश रही हैं।

यदि लॉकडाउन और बढ़ता है तो फिल्म निर्मताओ द्वारा IPL की तरह ही बायो बबल अपनाकर फिल्मों की शूटिंग करने पर विचार कर सकते हैं।

भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे, आईपीएल, यूएस ओपन जैसे खेल आयोजनों के दौरान बायो बबल का इस्तेमाल किया गया था, जो काफी चर्चा में रहा है।

चलिये जानते हैं क्या होता है बायो बबल और यह कैसे काम करता है-

What is a Bio Bubble (क्या है बायो बबल)

Bio Bubble (बायो-बबल) एक प्रकार का अदृश्य सुरक्षा कवच है, जिसका प्रयोग कोरोना संक्रमण के दौरान खेलो का आयोजन करने के लिए किया गया है।

Bio Bubble एक सुरक्षित वातावरण है, जिसमें केवल उन्हीं लोगों को शामिल किया जाता है, जिनकी COVID-19 की Negative Riport आयी है ताकि आयोजन के दौरान एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।

जाने क्यों मनाया जाता है 11मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2021

Where Bio-secure environment created? कहां पर बनाया जा सकता है बायो बबल?

जैव-सुरक्षित वातावरण किसी किसी निश्चित जगह जैसे किसी होटल या स्टेडियम के हिस्से को जो एकदम अलग-थलग हो और उस जगह का बाकी जगहों से संपर्क ना हो अथवा कम रहता हो।

इस जगह मे रहने वाले व्यक्ति को बाहरी दुनिया के साथ किसी भी शारीरिक संपर्क को रोकने के लिए केवल खास हिस्सों तक पहुंचने की अनुमति रहती है।

जैव-सुरक्षित वातावरण बनी जगह पर अधिकारियों, कर्मचारियों, सुरक्षा कर्मियों और चिकित्सा कर्मियों सभी के लिए अलग-अलग क्षेत्र निर्धारित किये जाते हैं। उन सभी को अपने निश्चित क्षेत्रों में ही रहना होता है। साथ ही बायो बबल के नियमो का उल्लंघन करने पर व्यक्ति को अलग कर दिया जाएगा और फिर उसे वापस आने के लिए दो बार कोरोना की निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करनेकी  जरूरत होगी।

जाने क्या है इंस्टाग्राम रील? कैसे बनाएं इंस्टाग्राम रील?

How Bio Bubble Works? कैसे काम करता है, बायो-बबल ?

बायो- बबल किसी निश्चित जगह में तैयार किया जाता है, जिससे लोग बाहरी दुनिया के संपर्क में नहीं रहते और उस जगह में रहने वाले लोग भी कोरोना नेगेटिव हैं। जिससे संक्रमण का जोखिम कम रहता है। इस दौरान बायो बबल के अंदर रहने वाले किसी भी व्यक्ति को अपने रिस्तेदार और दोस्तों से मिलने की अनुमति नहीं रहती। यदि बायो बबल के नियमों को तोड़ा जाता है तो संक्रमण की सम्भावना होगी।

कोरोना महामारी से देश और विश्व बेहाल है, ऐसे में Infotab आपसे निवेदन करता है कि बहुत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकले, बार- बार हाथ धोये, अन्य व्यक्ति से उचित दूरी बनाकर रहे और सावधान रहे। याद रहे अभी भी खतरा टला नहीं है, ऐसे में याद रहे “दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी”

Leave a Comment

Open chat
1
How can we help ?
Hello 👋

Can we help you ?