बच्‍चों के लिए किस तरह के खिलौनों का करें चुनाव (Toys for Kids)

बच्‍चों को खेल और खिलौनों से अत्‍यधिक लगाव होता है, इसी क्रम में हमें बहुत सावधानी भी रखनी पडती है कि बच्‍चें क्‍या खेल रहे हैं एवं किस वस्‍तु या खिलौने से खेल रहे हैं। कोई खिलौना बच्‍चों को खेल के दौरान नुकसान भी पहुंचा सकता है। इसलिए हमें बच्‍चों के लिए खिलाैैने लेते समय अत्‍यधिक सावधान एवं सजग रहने की आवश्‍यकता है। बच्‍चोंं के लिए हमें ऐसे खिलौनों का चुनाव करना चाहिए, जो उन्‍हें नुकसान न पहुंचाये बल्कि उनकी उत्‍सुकता और सीखने की क्षमता का विकास करे । इस लेख में हम बात कर रहे हैं स्‍कूल जाना प्रारंभ करने वाले बच्‍चों और स्‍कूल जाने से पहले के बच्‍चों के बारे में।

यहां ध्‍यान देने वाली बात ये ही कि बच्‍चों के स्‍कूल जाना प्रारंभ करने से कुछ ही दिनाेंं पहले लगभग 3 वर्ष के बच्‍चों के जीवन का एक ऐसा पडाव होता है जहां इस उम्र में बच्‍चें कुछ नया सीखने की उत्सुकता और रचनात्मकता से भरे होते हैं। तीन वर्ष के बच्‍चों के लिए किस प्रकार के खिलौने (Toys for 3 Year Old Kids) खरीदने चाहिए यह भी ध्यान रखना चाहिए क्योंकि अगर ऐसा न किया जाए तो बच्‍चों के दिमाग पर असर पड सकता है।

जीवन में खिलौनों का महत्व

कोई ऐसा व्यक्ति नहीं होगा जो बचपन में खिलौनों से न खेला हो। खिलौने बच्चों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं जिन्हे बच्चे जितना पसंद करते हैं उतना ही अधिक उनसे सीखते भी हैं।
छोटे बच्चे खिलौनों से ही रंगों की पहचान करना, गिनती और हिसाब करना आदि सीखते हैं यही नहीं खिलौने बच्चे के शारीरिक, बौद्धिक एवं सामाजिक विकास में भी योगदान देते हैं।
आईये जानते हैं कि कैसे होने चाहिए तीन वर्ष के बच्‍चों के खिलौने (Toys for 3 Years Baby)

पजल्‍‍‍स

यदि आपके बच्‍चे लगभग तीन वर्ष के हैं तो पजल्‍‍‍स लेना आपके एवं आपके बच्‍चे के बेहतर होगा। पज़ल्स के साथ खेलने से बच्चे की न केवल दिमागी क्षमता बढ़ेगी बल्कि वो समस्याओं हल करने की क्षमता में पारंगत होगा। पजल्‍स अलग-अलग आकर, रंग, साइज के मिलते हैं, जो छोट-छोटे टुकड़ों को साथ में जोड़ कर एक बड़ी आकृति बनती है। इस पजल में या तो कभी कोई चित्र बनाना होता है या फिर गिनती या वर्णमाला से संबंधित पजल भी बाजार में उपलब्ध है। शुरुआत में आपको बच्चे की थोड़ी मदद करनी होगी उसके बाद बच्‍चे स्‍वयं इसे खुद हल कर लेगा। बस ध्यान रहे कि पज़ल्स के टुकड़ों को बच्चा मुँह में न डालें।

पजल खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें ।

ब्लॉक्स (Blocks)

बच्‍चों का मन बहुत ही चंचल होता है, बच्‍चे किसी भी खिलौने को तोडने और जोडने में ज्‍यादा खुश होते हैं। इस लिए बच्‍चों को ब्‍लाक देना बेहतर होगा। बच्चे को खेलने के लिए नहीं टूटने वाले ब्लाक दें जिनसे बच्चा अपनी रचनात्मकता दिखा सकता है। ब्लॉक्स से बच्चा कुछ नया बनाना सीखेगा, इसके साथ ही अगर ब्लॉक्स में गिनती या अंग्रेजी के वर्णमाला लिखी हो तो उसे बच्चा आसानी से सीख सकता है। बार-बार ब्लॉक को तोड़ने और फिर से जोड़ने से बच्चे को खुशी मिलती है और उसका दिमाग रचनात्मक परिपूर्ण होता है। हर बार बच्‍चा कुछ नया सोचेगा और नयी-नयी चीज़ों को बनाने से बच्चों को कल्पनात्मकता भी बढ़ती है।

म्‍युजिक गिटार

बच्चों को संगीत बहुत प्रिय होता है और उनकी रूचि इसमें बढ़ाने के लिए आप उन्हें म्यूजिकल गिटार, कीबोर्ड आदि दे सकते हैं।

म्‍यूजिक गिटार खरीदने के लिए यहांं टच करें  

रंग पेन्सिल और मार्कर (Color Pencil and Marker)

इस उम्र में बच्चों को कलर करने या कुछ भी लिखने में खास रूचि होती है। ऐसे में उन्हें सुरक्षित रंग पेन्सिल और मार्कर दिए जा सकते हैं ताकि वो अपनी कल्पना का प्रयोग करके नयी-नयी चीज़ें बनाएं। उन्हें रंग पेन्सिल और मार्कर के साथ पूरा समय दें और देखें वो आपको अपनी रचना से आपको हैरान कर देंगे।
आप उन्हें किसी तस्वीर पर रंग भरना सीखा सकते हैं इसके अलावा उन्हें हर बार अलग आकृति बनाने को दें। इसके साथ ही आप चॉकबोर्ड और चाक भी आपको बच्चों को दे सकते हैं ताकि वो लिख या ड्रा करने के बाद उसे मिटा सके।

कलर पेंसिल क्रय करें यहां से 

किताबें

किताबें मनुष्य की सबसे अच्छी दोस्त होती है। बच्चे की रूचि छोटी उम्र से ही किताबें पढने मे बढाना चाहिए, इसके लिए बच्‍चों को तरह-तरह की तस्‍वीर वाली किताबें बच्‍चों के देना चाहिए जिससे वो तस्‍वीर देखने के साथ-साथ किताबों में समय व्‍यतीत कर सके और बडे होने पर भी रूची किताबों में बनी रहे।

बच्‍चों के लिए विभिन्‍न तस्‍वीर वाली पुस्‍तक खरीदने के लिए यहां क्‍लिक करें 

क्ले (Clay)

जब हम छोटे थे तो हम मिट्टी से खेला करते थे। मिटटी के खिलौने, गुड़िया या घर बनाना हमारी दिनचर्या का मुख्य हिस्सा हुआ करता था। आजकल इसकी जगह क्ले ने ले ली हैं। दरअसल बच्चों को ऐसे खिलौने देने चाहिए जो उन्हें कुछ अच्छा सीखने के लिए प्रेरित करें और जिनसे उनका मानसिक रूप से विकास हो।
क्ले से बच्चा अपने दिमाग का प्रयोग करके तरह-तरह की आकृति बना सकता हैं जिससे उसकी रचनात्‍मकता में बढ़ोतरी होगी। बस ध्यान रखें कि क्ले केमिकल मुक्त और नॉन टॉक्सिक हो व बच्चा इसे मुँह में न डाले।

बच्‍चों को मिटटी से खेलने का अनुभव देने के लिए क्‍ले खरीदें यहां से 

साइकिल (Cycle)

मानसिक के साथ-साथ इस उम्र में बच्‍चों का शा‍रीरिक विकास भी होता है। इसलिए बच्चे के लिए ऐसे खिलौनों का होना आवश्यक है जो उनके शारीरिक विकास में भी सहायक हों। इसके लिए साइकिल एक महत्‍वपूर्ण वस्‍तु है, साइकिल बच्‍चे खेल-खेल में चलाना भी सीखेंगे।

बच्‍चों के शारीरिक विकास के लिए सायकल खरीदने के लिए यहां क्‍लिक करें 

लड़कियों के लिए खिलौने (Toys for 3 Years Old Girl)

छोटी लड़कियां घर, गुडडे, गुडिया, किचन सेट आदि में अधिक रूची रखती हैं। इसलिए आप उन्हें घर, गुड़िया और किचन सेट दे सकते हैं ताकि वो उनसे खेल सकें और नई चीजें सीख सकते हैं।

बच्‍चों के खिलौनों में घर का विशेष स्‍थान होता है, बच्‍चों के लिए घर यहां से खरीदें

छाेेटी बच्‍ची के लिए किचिन सेट यहां से खरीदें

तीन साल के छोटे लड़कों की रूचि अधिकतर छोटी-छोटी कारों, बैटरी से चलने वाले इलेक्ट्रोनिक ट्रांसपोर्ट खिलौने जैसे कार, स्कूटर, मोटरसाइकिल आदि में होती है, आप उन्हें इन खिलौनों को भी दे सकते हैं। इन्‍हे खरीदनेके लिए यहांं क्‍लिक करें 

5 thoughts on “बच्‍चों के लिए किस तरह के खिलौनों का करें चुनाव (Toys for Kids)”

Leave a Comment

Open chat
1
How can we help ?
Hello 👋

Can we help you ?