How to apply Atal Pension Yojana : भारत सरकार की बेहद लोकप्रिय योजना, असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए गारंटीड पेंशन योजना अटल पेंशन योजना।

Atal Pension Yojna
Atal Pension Yojna

How to apply Atal Pension Yojana : भारत सरकार की बेहद लोकप्रिय योजना, असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए गारंटीड पेंशन योजना अटल पेंशन योजना।

Atal Pension Yojana: भारत सरकार की इस असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए सबसे लोकप्रिय योजना अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) के अंतर्गत हर महीने मे कमसेकम 42 रुपये प्रतिमाह के अंशदान से शामिल हो सकते हैं, अटल पेंशन योजना (APY) के तहत अधिकतम 60000 रुपये तक प्रतिवर्ष गारंटीड पेंशन जा प्रावधान है।

What Is Atal Pension Yojna (अटल पेंशन योजना क्या है)?

भारत की केंद्र सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के कामगारों को उनके सेवानिवृत्त होने के बाद की आय को ध्यान मे रखकर अटल पेंशन योजना (APY) वर्ष 2015 मे शुरू की गई है।

असंगठित क्षेत्र मतलब ऐसे कर्माचारी जो प्राइवेट सेक्टर मे कार्यरत हैं, खुद का कोई व्यवसाय कर रहे हैं या कोई भी ऐसे कर्माचारी जो सरकार की किसी भी पेंशन योजना के दायरे मे नहीं आते हैं। उन सभी के लिए भारत सरकार द्वारा गारंटीड पेंशन का प्रावधान किया गया है।

भारत सरकार की इस बेहद लोकप्रिय पेंशन योजना (Pension Scheme) अटल पेंशन योजना (APY) के अंतर्गत हर महीने सिर्फ 210 रुपये के अंशदान से शामिल हो सकते है और 60 साल के बाद अधिकतम 60 हजार रुपये सालाना पेंशन पाई जा सकती है।

Who can apply for atal pension yojna (अटल पेंशन योजना मे कौन अप्लाई कर सकता है)?

असंगठित क्षेत्र मे कार्यरत कर्मचारी, खुद का व्यवसाय करने वाला व्यक्ति अथवा ऐसा कोई कर्मचारी जो सरकार की कोई अन्य पेंशन योजना के दायरे मे नहीं आता, जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष है, सरकार की लोकप्रिय योजना का लाभ ले सकते हैं।

Who operates the Atal Pension Yojana (अटल पेंशन योजना कौन संचालित करता है)?

अटल पेंशन योजना (APY) का संचालन भारत सरकार के आधीन पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा किया जाता है।

यहाँ पढ़े : सर्दियों में बना रहे हैं घूमने का प्‍लान, यहां जाने राजस्‍थान के शानदार पर्यटन स्‍थल

यहाँ पढ़े : भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय

Applicant’s contribution (आवेदक के अंशदान का निर्धारण) :

अटल पेंशन योजना के अंतर्गत लाभार्थी के अंशदान का निर्धारण लाभार्थी द्वारा चुनी हुई पेंशन के आधार पर होता है। जैसे कि कोई 20 वर्ष का लाभार्थी यदि 60 वर्ष का होने के बाद 5000 रूपये मासिक पेंशन चाहता है तो उसे मासिक 210 रूपये का अंशदान करना होगा। पेंशन के लिए अंशदान लाभार्थी की आयु और प्राप्त की जाने वाली पेंशन के आधार पर तय होता है। जिनकी आयु जितनी ज्यादा होगी अंशदान की राशि उतनी अधिक होगी।

इस लिंक के माध्यम से आप स्वयं अंशदान की राशि चेक कर सकते हैं Npstrust

Features and Benefits of Atal Pension Yojana (अटल पेंशन योजना की विशेषताएं और लाभ)

APY की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र मे कार्यरत व्यक्ति को उसके रिटायरमेंट के बाद दिए जाने वाले मिनिमम पेंशन की गारंटी देती है।

इस योजना में किए गए निवेश पर, सेक्शन 80CCD के तहत, अटल पेंशन योजना टैक्स बेनिफिट मिलता है।

सभी बैंक खाता धारक इस योजना में शामिल हो सकते हैं।

इसमें निवेश करने वाले लोगों को 60 साल का होने के बाद पेंशन मिलना शुरू हो जाता है।

प्राइवेट सेक्टर में कार्यरत कर्मचारियों को कोई पेंशन बेनिफिट नहीं मिलता है वो भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है।

60 साल का होने के बाद 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये, या 5,000 रुपये का एक फिक्स्ड पेंशन पाने का विकल्प उपलब्ध है।

इस योजना के दौरान खाता धारक लाभार्थी की मृत्यु होने के बाद, उसका पति/पत्नी या तो जमा पैसे को निकाल सकता/सकती है या इस योजना की समय अवधि को पूरा कर पेंशन पा सकते हैं।

Withdrawal from Atal Pension Yojana (अटल पेंशन योजना से निकासी)

60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर 

60 वर्ष की पूर्ण कर लेने पर लाभार्थी को गारंटीड न्यूनतम मासिक पेंशन या अधिक मासिक पेंशन प्राप्त होगी। यदि लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है तो मासिक पेंशन की समान राशि लाभार्थी के पति या पत्नी (नॉमिनी) को प्राप्त होगा। लाभार्थी और पति या पत्नी दोनों की मृत्यु होने पर अन्य नॉमिनी इस धन को प्राप्त करने का पात्र होगा।

60 साल की उम्र से पहले बाहर निकलना 

यदि अटल पेंशन योजना का लाभार्थी 60 वर्ष के पूर्व ही स्वेच्छा से APY से बाहर निकलना चाहता है तो उसे केवल अटल पेंशन योजना में उनके द्वारा किया गया योगदान उनके योगदान पर अर्जित शुद्ध वास्तविक अर्जित आय के साथ-साथ खाते के रखरखाव शुल्क घटाने के बाद वापस किया जाएगा। इसमें सरकार के सह-योगदान है, और सरकार के सह-योगदान पर अर्जित आय, इस तरह के लाभार्थी को वापस नहीं किया जाएगा।

60 साल की उम्र से पहले लाभार्थी की मृत्यु 

यदि अटल पेंशन योजना के लाभार्थी की 60 वर्ष से पहले ही मृत्यु हो जाती है तो APY खाते में शेष अवधि (मूल ग्राहक की 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक) लाभार्थी के पति या पत्नी अपने नाम से इस योजना मे योगदान जारी रख सकते हैं वही पेंशन राशि प्राप्त करने के हक़दार होंगे, जो मूल लाभार्थी को प्राप्त होते अथवा अटल पेंशन योजना के तहत पूरे जमा फंड पति या पत्नी/नामिती को प्राप्त हो जाएगी।

Procedure to apply for Atal Pension Yojana (अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया)

इस योजना का लाभ लेने के लिए  आवेदन प्रक्रिया निम्नानुसार है

सभी राष्ट्रीयकृत बैंक,  अटल पेंशन योजना प्रदान करते हैं। इन बैंकों में जाकर एक  अटल पेंशन योजना का अकाउंट खोला जा सकता है।
खाता खोलने के लिए फॉर्म, बैंक की वेबसाइटों पर ऑनलाइन भी उपलब्ध रहते है। आवेदन फॉर्म डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन फॉर्म को भरकर बैंक में सबमिट करना जरूरी होता है।
फार्म के साथ आवेदक का एक मान्य मोबाइल नंबर,
आधार कार्ड की फोटोकॉपी देना होता है।

1 thought on “How to apply Atal Pension Yojana : भारत सरकार की बेहद लोकप्रिय योजना, असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिए गारंटीड पेंशन योजना अटल पेंशन योजना।”

Leave a Comment

Open chat
1
How can we help ?
Hello 👋

Can we help you ?